Ajj rang hai he maa rang hai ri

आज रंग है ऐ माँ रंग है री,
मेरे महबूब के घर रंग है री।
अरे अल्लाह तू है हर,
मेरे महबूब के घर रंग है री।

मोहे पीर पायो निजामुद्दीन औलिया,
निजामुद्दीन औलिया-अलाउद्दीन औलिया।
अलाउद्दीन औलिया, फरीदुद्दीन औलिया,
फरीदुद्दीन औलिया, कुताबुद्दीन औलिया।
कुताबुद्दीन औलिया मोइनुद्दीन औलिया,
मुइनुद्दीन औलिया मुहैय्योद्दीन औलिया।
आ मुहैय्योदीन औलिया, मुहैय्योदीन औलिया।
वो तो जहाँ देखो मोरे संग है री।

अरे ऐ री सखी री,
वो तो जहाँ देखो मोरो (बर) संग है री।
मोहे पीर पायो निजामुद्दीन औलिया,
आहे, आहे आहे वा।
मुँह माँगे बर संग है री,
वो तो मुँह माँगे बर संग है री।

निजामुद्दीन औलिया जग उजियारो,
जग उजियारो जगत उजियारो।
वो तो मुँह माँगे बर संग है री।
मैं पीर पायो निजामुद्दीन औलिया।
गंज शकर मोरे संग है री।
मैं तो ऐसो रंग और नहीं देखयो सखी री।
मैं तो ऐसी रंग देस-बदेस में ढूढ़ फिरी हूँ,
देस-बदेस में।
आहे, आहे आहे वा,
ऐ गोरा रंग मन भायो निजामुद्दीन।
मुँह माँगे बर संग है री।

सजन मिलावरा इस आँगन मा।
सजन, सजन तन सजन मिलावरा।
इस आँगन में उस आँगन में।
अरे इस आँगन में वो तो, उस आँगन में।
अरे वो तो जहाँ देखो मोरे संग है री।
आज रंग है ए माँ रंग है री।

ऐ तोरा रंग मन भायो निजामुद्दीन।
मैं तो तोरा रंग मन भायो निजामुद्दीन।
मुँह माँगे बर संग है री।
मैं तो ऐसो रंग और नहीं देखी सखी री।
ऐ महबूबे इलाही मैं तो ऐसो रंग और नहीं देखी।
देस विदेश में ढूँढ़ फिरी हूँ।
आज रंग है ऐ माँ रंग है ही।
मेरे महबूब के घर रंग है री।

Read More...

Quotes By Hazrat Ali In Hindi

1-तुम्हे हुक्म दिया गया है की तुम अल्लाह की आज्ञा का पालन करो,
और तुम्हे इसलिए बनाया गया है ताकि तुम अच्छे कर्म करो….

2- अगर इन्सान को तकब्बुर (घमंड) के बारे में,
अल्लाह की नाराज़गी का इल्म हो जाए तो
बंदा सिर्फ फकीरों और गरीबों से मिले और मिट्टी पर बैठा करे….

3-ज्यादा बोलने से बचो,
क्योंकि इससे गलत बात बोलने और लोगो के आप से बोर हो जाने का डर रहता है

4-आँखों के आंसू दिल की सख्ती की वजह से सूख जातें हैं,
और दिल बार बार गुनाह करने की वजह से सख्त हो जाता है…

5-चुगली करना उसका काम होता है,
जो अपने आप को बेहतर बनाने में असमर्थ होता है….

6-इन्सान भी कितना अजीब है,
की जब वह किसी चीज़ से डरता है तो वह उससे दूर भागता है,
लेकिन यदि वह अल्लाह से डरता है तो उसके और करीब हो जाता

7-कभी भी किसी के पतन को देखकर खुश मत हो,
क्युकी तुम्हे पता नहीं है भविष्य में तुम्हारे साथ क्या होने वाला है

8- सूरत सीरत बगैर के एक ऐसा फूल है,
जिसमे कांटे ज्यादा हो और खुशबू बिलकुल न हो

9- आज का इन्सान सिर्फ दोलत को खुशनसीबी समझता है,
और ये ही उसकी बदनसीबी है

10-तुम सिर्फ अपने खुदा से उम्मीद रखो,
और किसी से मत डरो सिवाय अपने गुनाहों के

11-खालिक से मांगना शुजाअत है,
अगर दे तो रहमत और न दे तो हिकमत.
मखलूक से मांगना जिल्लत है अगर दे तो एहसान और ना दे तो शर्मिंदगी

12-तुम्हारा एक रब है फिर भी तुम उसे याद नहीं करते,
लेकिन उस के कितने बन्दे हैं फिर भी वह तुम्हे नहीं भूलता

13-एक अच्छी रूह और दयालु ह्रदय को कोई चीज़ इतनी दुःख नहीं पहुंचाती,
जितना उन लोगों के साथ रहना जो उसे नहीं समझ सकते

14-शिष्टाचार अच्छा व्यवहार करने में कुछ खर्च नहीं होता,
पर यह सबकुछ खरीद सकता है

15- अपनी सोच को पानी के कतरों से भी ज्यादा साफ रखो,
क्योंकी जिस तरह कतरों से दरिया बनता है उसी तरह सोच से इमान बनता है

16- सम्मान पूर्वक साफगोई से मना कर देना,
एक बड़े और झूठे वादे से बेहतर होता है

17-बात तमीज़ से और एतराज़ दलील से करो क्योंकी,
जबान तो हैवानों में भी होती है,
मगर वह इल्म और सलीके से महरूम होते हैं ….

18-उस व्यक्ति को कभी सुकून नहीं मिलता जो इर्ष्या करता है,
और उसे कोई व्यक्ति प्रेम नहीं करता जिसका ख़राब व्यवहार होता है

19-प्यास न हो तो पानी की कोई कीमत नहीं होती है,
मौत नहीं होती तो ज़िन्दगी की कोई कीमत नहीं होती.
और विश्वास ना हो तो दोस्ती की कोई कीमत नहीं होती…..

20-सोने और चांदी की हिफाज़त करने के बजाए,
अपनी जबान की हिफाज़त करो

21- जब तुम बीमार हो जाओ तो इससे घबराओ मत,
और जितना अधिक हो सके उतना आशावान बने रहो.

22-जब दुनिया आपको घुटनों के बल गिरा देती है तब,
आप प्रार्थना करने की सर्वोत्तम स्तिथी में होते हैं

23-महान व्यक्ति का सबसे अच्छा काम होता है,
माफ़ कर देना और भुला देना…

24-अगर किसी का तरफ आज़माना हो तो उसको ज्यादा इज्जत दो ,
वह आला तरफ हुआ तो आपको और ज्यादा इज्ज़त देगा,
और कम तरफ हुआ तो खुद को आला समझेगा

25-मुश्किलों की वजह से चिंता में मत डूबा करो,
सिर्फ बहुत अंधियारी रातों में ही सितारे ज्यादा तेज़ चमकते हैं..

26-ज़िन्दगी में दो तरह के दिन आतें हैं ,
एक जिसमे आप जीतते हैं,और दूसरा वो दिन जो आपके खिलाफ जाता है.
तो जब तुम्हारी जीत हो तो घमंड मत करो और जब चीज़ें तुम्हारे खिलाफ जाएँ तो सब्र करो.
दोनों ही दिन तुम्हारे लिए परीक्षा हैं

27-निश्चित रूप से ख़ामोशी,
कभी कभी भावपूर्ण जवाब हो सकती है.

28-ईमानदारी तुम्हे अच्छाई की तरफ ले जाती है,
और अच्छाई तुम्हे स्वर्ग (जन्नत) की दावत देती है

29-लफ्ज़ आपके गुलाम होतें हैं मगर सिर्फ बोलने से पहले तक,
बोलने के बाद इन्सान अपने अल्फाज़ का गुलाम बन जाता है,
एक शब्द अपमान कर सकता है और आपके सुख को समाप्त कर सकता है.

30-अगर इन्सान को तकब्बुर (घमंड) के बारे में,
अल्लाह की नाराज़गी का इल्म हो जाए तो
बंदा सिर्फ फकीरों और गरीबों से मिले और मिट्टी पर बैठा करे

31-सूरत और सीरत (चरित्र) में सबसे बड़ा फर्क ये हैं की
सूरत धोखा देती है जबकि सीरत पहचान करवाती है.

32-अक़्लमंद अपने आप को नीचा रखकर बुलंदी हासिल करता है,
और नादान अपने आप को बड़ा समझकर ज़िल्लत उठाता है

33-कम खाने में सेहत है,
कम बोलने में समझदारी है और कम सोना इबादत है….

34-जिसकी अमीरी उसके लिबास में हो वो हमेशा फ़कीर रहेगा
और जिसकी अमीरी उसके दिल में हो वो हमेशा सुखी रहेगा

35-जिसको तुमसे सच्चा प्रेम होगा,
वह तुमको व्यर्थ और नाजायज़ कामों से रोकेगा

36-इन्सान का अपने दुश्मन से इन्तकाम का सबसे अच्छा तरीका ये है,
कि वो अपनी खूबियों में इज़ाफा कर दे…

37-इंसान मायूस और परेशान इसलिए होता है,
क्योंकि वो अपने रब को राज़ी करने के बजाये.
लोगों को राज़ी करने में लगा रहता है

38-हमेशा समझोता करना सीखो.
क्यूंकि थोडा सा झुक जाना किसी रिश्ते का हमेशा के लिए टूट जाने से बेहतर है…

39-अपने जिस्म को ज़रूरत से ज़्यादा न सवारों,
क्योंकि इसे तो मिट्टी में मिल जाना है,
सवॉरना है तो अपनी रूह को सवॉरों क्योंकि इसे तुम्हारे रब के पास जाना है

40-जो इनसान सजदो मे रोता है,
उसे तक़दीर पर रोना नहीं पड़ता..

41-इंसान की ज़ुबान उसकी अक्ल का पता देती है.
और आदमी अपनी ज़ुबान के नीचे छुपा होता है

42- हमेशा ज़लिमो का दुश्मन,
और मज़लूमो का मददगार बन कर रहन

43-अगर कोई शख्स अपनी भूख मिटाने के लिए रोटी चोरी करे तो,
चोर के हाथ काटने के बजाए बादशाह के हाँथ काटे जाए

Read More...

motivational quotes hindi mai

जिंदगी जख्मों से भरी है वक्त को मरहम बनाना सिख लों,
हारना तो है ही मौत के सामने पहले जिंदगी से जीना सिख लो।

– हर छोटा बदलाव बड़ी कामयाबी का हिस्सा होता है

– ज्ञान से शब्द समझ में आते हैं और अनुभव से अर्थ!!

– थोड़ा डुबूंगा, मगर मैं फिर तैर आऊंगा, ऐ ज़िंदगी, तू देख, मैं फिर जीत जाऊंगा…

– सीढीयों कि जरूरत उन्हें है, जिन्हें छत तक जाना है। मेरी मंजील तो आसमान है, रास्ता भी खुद ही बनाना है।

– जो अपनी गलतियों से सीखता है और दुसरे तरीकें अपनाता है; वह् सफल होता है।

Read More...

Shah ast Hussain Badshah ast Hussain

शाह अस्त हुसैन बादशाह अस्त हुसैन
दीन अस्त हुसैन दीं’पनाह अस्त हुसैन

जब वादा-ए-तिफ़ली को वफ़ा कर चुके शब्बीर
सर मार्काए करबोबला कर चुके शब्बीर
ख़ंजर के तले शुक्रे खुदा कर चुके शब्बीर
उम्मत के लिए हक़ से दुआ कर चुके शब्बीर
तीरों ने समेटा शहे बेकस का मुसल्ला
थर्राई ज़मीं काँप उठा अरशे मुअल्ला

जो काम था भाई का बहन ने वो संभाला
जलते हुए ख़ैमें से भतीजे को निकाला
दम तोड़ गया सामने हर गोद का पाला
लब तक ना बर आया दिले बेताब से नाला

एलाने कुनाँ नारा-ए-तकबीर थी ज़ैनब
हाँ नाशिर-ए-मक़सदे शब्बीर थी ज़ैनब

चादर जो छिनी साक़िये कौसर को पुकारा
क़ासिम को सदा दी अली अकबर को पुकारा
हर ज़ुल्म पे अब्बास-ए-दिलावर को पुकारा
झूले में लगी आग तो असग़र को पुकारा

नागाह सवार एक नज़र सामने आया
थर्राने लगी जाने दिले फ़ातेमा ज़हरा
बोली के ख़बरदार वहीं रोक ले घोड़ा
रो रो के अभी सोए हैं मासूम तरस खा

कह दे उमर-ए-साद से लिल्लाह ये जाकर
कल दिन के उजाले में हमे लूटना आकर

ज़ैनब की सदा सुनके भी ठहरा ना जब सवार
तब बिन्ते अली आगे बढ़ीं गैज़ में एक बार
चिल्लाई के अये बानीए बेदाद ओ जफ़ाकार
सुनता नहीं तू कहती हूँ मैं जो जिगर अफ़गार

अंजाम ना रुकने का भी अब जान ले ज़ालिम
बेटी हूँ अली की मुझे पहचान ले ज़ालिम

ये कहते हुए डाल दिया हाथ अना पर
अब चाहिए क्या लूट लिया जब के भरा घर
हूँ लाख ग़रीबुल वतनों बेकसो मुज़तर
मजबूर समझना ना मुझे फिर भी सितमगर

क्या ख़ौफ़ मुझे बाज़िद अपने इरादे पे जो तू है
इन बाज़ुओं में फ़ातेमा ज़हरा का लहू है

शब भर मैं तेरे ख़ैमें का दरबान रहूँगा
ता सुबह इसी दश्त में मेहमान रहूँगा

दुखयारी ने जब ग़ौर से चेहरे पे नज़र की
नज़दीके रकाब आई कदम चूम के बोली
बाबा मेरे क्यूँ आन के पहले ना खबर ली
मालूम है क्या आप की औलाद पे गुज़री

ग़म खाने को ये बेकसो लाचार है बाक़ी
मर्दो मे फ़ाक़ात आबिदे बीमार है बाक़ी

जब सर मेरे भाई का कटा आप कहाँ थे
जब ख़ात्मा अकबर का हुआ आप कहाँ थे
बेशीर के जब तीर लगा आप कहाँ थे
जब सर से छिनी मेरी रिदा आप कहाँ थे

ढारस के लिए बेटी की अब आए हो बाबा
सारा मेरा घर लुट गया तब आए हो बाबा

जब मैं हुई आवारा वतन आप कहाँ थे
लूटा गया ज़हरा का चमन आप कहाँ थे
टुकड़े हुआ अब्बास का तन आप कहाँ थे
बाँधी मेरी आदां ने रसन आप कहाँ थे

ज़ैनब से कहा हाशमी हैदर ने ये रो कर
मैं साये के मानिंद तेरे साथ था दिलबर
है पेशे नज़र अब भी क़यामत का वो मंज़र
जिस वक़्त के छिनी गई सर से तेरी चादर

मैं बख़्शिशे उम्मत का सबब देख रहा था
ख़ामोश खड़ा मर्ज़िये रब देख रहा था

Read More...

shah ast hussain

Shah Ast Hussain (A.S), Badshaah Ast Hussain (A.S),
Deen Ast Hussain (A.S), Deen Panah Ast Hussain (A.S)

Sar Daad Na Daad Dast Dar Dast-E-Yazeed
Haqqa Ke Bina La Illah Ast Hussain (A.S)

Sardaaro Shehenshaah Ay Shaahe Shaheedan,
Qaari Sare Naiza Ay Waarise Quran
Kehti Hain Namazein Ab Tak Sare Maidaan
Suno Zindaa Hai Hussain (A.S)

Shah Ast Hussain (A.S), Badshaah Ast Hussain (A.S),
Deen Ast Hussain (A.S), Deen Panah Ast Hussain (A.S)

Read More...

Karbala mein 72 jahido ke naam

1.हजरत इमाम हुसैन रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
2.हजरत अब्बास बिन अली रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
3.हजरत अली अकबर बिन हुसैन रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
4.हजरत अली असगर बिन हुसैन रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
5.हजरत अब्दुल्ला बिन अली रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
6.हजरत जाफर बिन अली रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
7.हजरत उस्मान बिन अली रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
8.हजरत अबूबकर बिन अली रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
9.हजरत अबूबकर बिन हसन अली रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
10.हजरत कासिम बिन हसन बिन अली रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
11.हजरत अब्दुल्ला बिन हसन रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
12.हजरत ओन बिन अब्दुल्ला बिन जाफर रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
13.हजरत मोहम्मद बिन अब्दुल्ला बिन जाफर रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
14.हजरत अब्दुल्ला बिन मुस्लिम बिन अकील रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
15.हजरत मोहम्मद बिन मुस्लिम रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
16.हजरत मोहम्मद बिन सईद बिन अकील रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
17.हजरत अब्दुल्ल रहमान बिन अकील रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
18.हजरत जाफर बिन अकील रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
19.हजरत अनस बिन हारिस असदी रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
20.हजरत हबीब बिन मजाहिर असदी रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
21.हजरत मुस्लिम बिन ओरजा असदी रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
22.केस बिन मशदर असदी रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
23.हजरत अब समाम ऊमरु बिन अब्दुल्लाह रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
24..हजरत बुरेर हमदानी रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
25.हजरत अनजला बिन असद रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
26.हजरत अबीस शकिर रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
27..हजरत अब्दुल्ल रहमान वहाबी रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
28..हजरत सैफ बिन हासिद रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
29.हजरत आमीर बिन अब्दुल्लाह हमदानी रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
30.हजरत जुनैद बिन हासिद रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
31..हजरत मजमा बिन अब्दुल्लाह रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
32.हजरत माफ बिन हिलाल रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
33..हजरत हज्जाज बिन मसरुफ रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
34.हजरत उमर बिन करफा रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
35.हजरत अब्दुल्ल रहमान बिन अब्देख रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
36.हजरत जुनैद बिन काब रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
37.हजरत आमिर बिन जुनैद रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
38.हजरत नईम बिन अजलान रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
39.हजरत साद बिन हारिस रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
40.हजरत जुहैर बिन कैन रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
41.हजरत सलमान बिन मजारिब रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
42.हजरत सईद बिन उमर रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
43.हजरत अब्दुल्लाह बिन बशीर रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
44.हजरत यजीद बिन जाएद कनदी रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
45.हजरत हर्व बिन उमर अल कैस रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
46.हजरत जहीर बिन आमिर रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
47.हजरत बशीर बिन आमिर रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
48.हजरत अब्दुल्लाह अरवाह गफ्फारी रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
49.हजरत जोन (हजरत अबुजर के गुलाम) रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
50.हजरत अब्दुल्लाह बिन आमिर रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
51.हजरत अब्दुल्लाह आला बिन यजीद रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
52.हजरत सलीम बिन आमीर रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
53.हजरत कासिम बिन हबीब रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
54.हजरत जाएद बिन सलीम रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
55.हजरत नोमान बिन उमर रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
56.हजरत यजीद बिन साबीत रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
57.हजरत आमिर बिन मुस्लिम रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
58.हजरत सैफ बिन मलिक रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
59.हजरत जाबिर बिन हज्जाजी रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
60.हजरत मसुद बिन हज्जाजी रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
61.हजरत अब्दुल्ल रहमान बिन मसुद रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
62.हजरत बाकिर बिन हई रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
63.हजरत अम्मार बिन हसन रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
64.हजरत जिरगाम बिन मलिक रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
65.हजरत कनान बिन अतीक रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
66.हजरत अकबा बिन सल्ह रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
67.हजरत हुर बिन यजीद तमीमी रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
68.हजरत उमर बिन खालिद सौदावी रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
69.हजरत हबाला बिन अली शीबानी रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
70.हजरत कनाब बिन उमर रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
71.हजरत अब्दुल्लाह बिन यकतर रज़ियल्लाहु तआला अन्हु
72.हजरत गुलाम ए तुर्की (इमाम सज्जाद के गुलाम) रज़ियल्लाहु तआला अन्हु

Read More...

Quotes in Hindi

” अपना राज किसी के सामने
तब तक प्रकट ना करो
जब तक तुम्हारा लक्ष्य
पूर्ण ना हो जाए। “

” अहंकार में डूबे इंसान को ,
ना तो खुद की गलतियां
दिखाई देती है और
ना दूसरों की अच्छी बात। “

” ठोकर लगने का मतलब यह नहीं ,
कि आप चलना छोड़ दें।
बल्कि ठोकर लगने का मतलब
यह होता है कि आप संभल जाएं। “

” बुद्धिमान और मूर्ख में एक छोटा सा अंतर है ,
बुद्धिमान कार्य पूर्ण होने से पहले
नहीं बोलते वह सोचते है
मूर्ख कार्य पूर्ण होने से पहले बोलते हैं सोचते नहीं। “

Read More...

Hindi Quotes

अगर आपको कुछ बड़ा करना है,
तो बड़े लोगो की तरह सोचो।

जो पढ़ाई आज आपको दर्द लग
रही है; अगर इस दर्द को झेलते
रहो; तो कल ये दर्द आपकी सबसे
बड़ी ताकत बन जाएगा..

जो. व्यक्ति खुद को control
कर सकता है वो जिंदगी में कुछ
भी कर सकता है।

सिंह बनो सिंहासन की चिंता मत
करो आप जहां बैठोगे सिंहासन
वही बन जाएगा

Read More...

Motivational Quotes Hindi

आंखों, में नींद बहुत है पर सोना नहीं है,
यही समय है कुछ करने का इसे खोना नहीं है।

—#2—
अगर मेहनत आदत बन जाए
तो कामयाबी ‘मुकद्दर’ बन जाती है।

—#3—
मंजिलें भी जिद्दी हैं .
रास्ते भी जिद्दी हैं,
देखते है कल क्या होगा,
हौसले भी तो जिद्दी हैं ।

—#4—
आज रांस्ता बना लिया है,
तो कल मंजिल भी मिल जाएगी ॥
हौसलों से भरी यह कोशिश एक दिन
जरूर रंग लाएगी !!

—#5—
उड़ान तो भरना है।
चाहे कई बार गिरना पड़े
सपनों को पूरा करना है
चाहे खुद से भी लड़ना पड़े

—#6—
मेहनत अगर आदत बन जाए,
तो कामयाबी मुकद्दर बन जाती है !

—#7—
कमियां भले ही हजारों हो तुममें लेकिन
खुद पर विश्वास रखो कि तुम सबसे
बेहतर करने का हुनर रखते हो।
—#8—

बिना मेहनत के कुछ नहीं मिलता
दोस्तों कुदरत चिड़िया को खाना
जरूर देता है, लेकिन घोसले में नहीं।

💪👉✍️👍🤘

Read More...

motivation hindi quotes

1 – “जो किसी के Fan है उनका कभी कोई Fan नहीं बनता ”

2- “जब रास्तों पर चलते चलते मंजिल का ख्याल ना आये तो आप सही रास्ते पर है ”

3- “सही करने की हिम्मत उसी में आती है जो गलती करने से नहीं डरते है ”

4- “अगर सूरज के तरह जलना है तो रोज उगना पड़ेगा ”

5- “कभी कभी सफर ज्यादा खूबशूरत होती है, मंजिल से ”

6- “ज़िंदा वही है जिसके हौशलों के तरकस में कोशिशों की तीर बची है ”

7- “यदि मनुष्य कुछ सीखना चाहे, तो उसकी प्रत्येक भूल कुछ न कुछ सीखा देती है “

Read More...