Choose Us

AAJ KI SHAYARI

Is baat se nhi matlab koi intiha hogi

इस बात की नहीं है कोई इंतिहा न पूछ
ऐ मुद्दआ-ए-ख़ल्क़ मिरा मुद्दआ न पूछ
Read More

Kon yaad aaya ye bahar-e-kaha se aai hai

कौन याद आया ये महकारें कहाँ से आ गईं
दश्त में ख़ुशबू की बौछारें कहाँ से आ गईं
Read More

ye baat ye tabassum ye naaz ye nigahe

ये बात ये तबस्सुम ये नाज़ ये निगाहें
आख़िर तुम्हीं बताओ क्यूँकर न तुम को चाहें
Read More

kya kre kyu rahe duniya me yaro

क्या करें क्यूँ-कर रहें दुनिया में यारो हम ख़ुशी
हम को रहने ही नहीं देता है हरगिज़ ग़म ख़ुशी
Read More

Surat se iss ki behtar surat nhi hai koi

सूरत से इस की बेहतर सूरत नहीं है कोई
दीदार-ए-यार सी भी दौलत नहीं है कोई
Read More

Teri yaad hai bhaut jaruri mere liye

वही प्यास है वही दश्त है वही घराना है
मश्कीज़े से तीर का रिश्ता बहुत पुराना है
Read More

Hamre hath me jab koi jaam aya hai

हमारे हाथ में जब कोई जाम आया है
तो लब पे कितने ही प्यासों का नाम आया है
Read More

Kab Bahar Aai Thi Nhi Malum

फ़स्ल-ए-गुल कब लुटी नहीं मालूम
कब बहार आई थी नहीं मालूम
Read More

Is alam-e-vira me kya anjuman hai

इस आलम-ए-वीराँ में क्या अंजुमन-आराई
दो रोज़ की महफ़िल है इक उम्र की तन्हाई
Read More

Dil per wafa ka bojh uthate rahe hai hum

दिल पर वफ़ा का बोझ उठाते रहे हैं हम
अपना हर इम्तियाज़ मिटाते रहे हैं हम
Read More

Choose by Category

Silverhints Collection

SHAYARI
GHAZAL
E-BOOK